आडवाणी के साथ शिवराज को भी संदेश!

नरेंद्र मोदी ने पितृपुरुष आडवाणी के लिए गांधीनगर की सीट का फैसला करवाकर मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री को भी संदेश भिजवा दिया है कि शिवराज सिंह चौहान चाहें तो भोपाल सीट को अब भर सकते हैं। मोदी ने बुधवार को साफ जतवा दिया कि अब उन्हीं की चलने वाली है, क्योंकि सरकार बनी तो उन्हें ही […]

मजमा न लगे तो मीडिया खराब!

[dc]मी[/dc]डिया को अरविंद केजरीवाल के प्रति अपना गुस्सा थूक देना चाहिए – ऐसी जगह पर, जो झाडू की पहुंच के बाहर हो। मान लेना चाहिए कि केजरीवाल सबकुछ समझ-बूझकर कर रहे हैं। यह उनकी चुनावी रणनीति का हिस्सा हो सकता है। केजरीवाल जानते हैं कि वे मीडिया को जितना ज्यादा लतियाएंगे, वे मीडिया वालों की […]

'नमो' के जाप पर 'भागवत' कथा

[dc]प्र[/dc]धानमंत्री पद के लिए भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी के नाम का जाप करने के संबंध में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत ने बेंगलुरु में हुई संगठन की प्रतिनिधि सभा में जो कुछ भी कहा, क्या उसकी इस समय इतनी जरूरत थी? चुनावों की पूर्वसंध्या पर एक ऐसे समय, जब समूचे […]

आकांक्षाएं राष्ट्रीय, राजनीति क्षेत्रीय

[dc]सु[/dc]श्री जयललिता अगर भारत राष्ट्र का प्रधानमंत्री बनने की अपनी इच्छा को पूरा नहीं कर पाती हैं तो इस खतरे के लिए देश को तैयार रहना चाहिए कि वे फिर तमिलनाडु को, अघोषित तौर पर ही सही, एक स्वायत्त ‘तमिल राष्ट्र’ में परिवर्तित करने की हिम्मत जुटा सकती हैं। तमिल अस्मिता के नाम पर तमिलनाडु […]

रालेगण से अब फूटी ममता की किरण

[dc]अ[/dc]ण्णा हजारे तेज-तर्रार ममता बनर्जी को प्रधानमंत्री पद पर देखना चाहते हैं। कि ममता स्वयं भी प्रधानमंत्री पद पर काबिज होने की मंशा रखती हैं, ऐसा अण्णा ने जाहिर कर दिया है। प्रधानमंत्री पद के लिए भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी को अब जयललिता के अलावा ममता बनर्जी का भी समर्थन प्राप्त नहीं […]

इस बार हमला अंदर से!

[dc]कां[/dc]ग्रेस ने चुनावी मैदान में उतरने से पहले ही जनता का विश्वास गंवा दिया। गुरुवार को संसद की गरिमा पर चुने हुए प्रतिनिधियों द्वारा ही प्रहार किया गया और समूची सरकार पूरा नजारा इस तरह देखती रही मानो देश के संसदीय सम्मान को शर्मसार करने का समूचा षड्यंत्र पहले से ही उसकी जानकारी में था। […]

जमीनी सवाल, आसमानी जवाब

[dc]अ[/dc]पनी ही आंखों से देखना और सुनना काफी आश्वस्त करने वाला अनुभव था कि कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी से उनकी आंखों में झांकते हुए सीधे सवाल भी किए जा सकते हैं। और यह भी कि राहुल गांधी किस तरह से असली सवालों को अपने खूबसूरत भोलेपन की आड़ लेकर चतुराई के साथ […]

आडवाणी : अभी राज्यसभा जैसी उम्र नहीं

[dc]दे[/dc]श में इस समय जितने भी महत्वाकांक्षी बुजुर्ग राजनीति कर रहे हैं, उनमें लालकृष्ण आडवाणी को सबसे अधिक समझदार माना जा सकता है। 86 वर्ष की उम्र में भी वे लड़ाई के मैदान में डटे रहना चाहते हैं। भारतीय जनता पार्टी के ही कुछ नेताओं की तमाम कोशिशें अपने लालजी को सेवानिवृत्त कर घर बैठाने […]

चुनावों के पहले 'आप' की छोटी-सी अंगड़ाई

[dc]अ[/dc]रविंद केजरीवाल के लिए दिल्ली में काम पूरा हो गया है। वे ‘आंशिक’ रूप से जीत गए हैं। धरना खत्म हो गया है। मुंबइया फिल्म ‘नायक’ में अभिनेता अनिल कपूर से खलनायक अमरीश पुरी की शर्त लगवाई जाती है। उसके बाद अनिल कपूर को एक दिन के लिए मुख्यमंत्री बनवाया जाता है। और फिर चौबीस […]

चिंता जीतने की नहीं, जीतने नहीं देने की?

[dc]जो[/dc] चीज साफ है और राजनीति को समझने वाले हर शख्स को अब नजर भी आ रही है, वह यही है कि राहुल गांधी ने अपने आपको नए अवतार में प्रकट करने में जरूरत से ज्यादा देरी कर दी। दूसरे यह कि जनता ही नहीं, कांग्रेस का आम कार्यकर्ता भी जानता है कि पार्टी में […]